होली का रंग चूत चुदाई के संग-5

सेक्स मैक्स चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि चार लड़कों और 4 जवान लड़कियों ने नंग धड़ंग होकर होली वाले दिन भरपूर चोदम चोद करके कैसे जश्न मनाया.

मित्रो, मैं आपकी चुलबुली प्यारी सी फेहमिना अपनी सहेलियों के संग चुदाई की कहानी सुना रही थी.
पिछले भाग
8 जवानियों की खुल्लम खुल्ला चुदाई
अब तक आपने पढ़ा था कि मोहित ने मुझे झाड़ दिया था और उसने मेरी चुत का रस अपने मुँह में भरकर मेरे मुँह में छोड़ दिया.

अब आगे Sex Max Chudai Story:

कुछ देर में ही मैं फिर से गर्मा गई और हम दोनों जंगली जानवरों की तरह एक दूसरे को चाटने लगे थे.

इतने में मोहित ने मेरी एक टांग उठा ली और अपना लंड पकड़कर मेरी चूत में डाल दिया.
वो मेरी चूत में धक्के देने लगा.

मैंने एक हाथ साइड वाली मेज पर रखा हुआ था, जिससे मुझे एक टांग पर खड़े रहने में आसानी हो रही थी.
मोहित मेरी चूत में जोर जोर से धक्के दे रहा था.

फिर उसने एक हाथ से मेरा मुँह पकड़ा और मुझे जोरदार किस करता हुआ मेरी चूत में धक्के देने लगा.
मेरे मुँह से बस ‘आआह उह जानू और जोर से चोद मुझे … साले पागल कर दे मुझे … और जोर से चोद मादरचोद …’ निकल रहा था.

मेरे मुँह से गाली सुनकर मोहित का जोश और ज्यादा बढ़ गया. वो मुझे किस करता हुआ जोर जोर से चोदने लगा.
अचानक उसने मेरी टांग छोड़ दी और मुझे घुमा कर मेरे चूतड़ों पर जोर से थप्पड़ मारा और मुझे घोड़ी बनने को कहा.

मैंने तुरंत दोनों हाथ मेज पर रख दिए और घोड़ी बन गयी.
मोहित ने मेरे चूतड़ फैला कर अपनी जीभ मेरे चूतड़ों की दरार में मेरी गांड के छेद पर टिका दी और मेरी गांड का छेद चाटने लगा.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, तो मैंने उसका मुँह पीछे से पकड़कर अपनी गांड में और ज्यादा अन्दर तक घुसवाना शुरू कर दिया.

फिर मोहित ने खड़े होकर मेरे दोनों चूतड़ों पर जोरदार 3-4 थप्पड़ मारे, जिससे मेरी अआह्ह निकल गयी.
उसने अपने लंड पर थूक लगाया और लंड को मेरी गांड में घुसाना शुरू कर दिया.

मैंने पहले भी गांड में कई बड़े बड़े लंड लिए हैं तो मुझे कोई खास दर्द नहीं हुआ मगर मैं मोहित का जोश और ज्यादा बढ़ाना चाहती थी.

मैंने अपनी गांड का छेद टाइट कर लिया, जिससे मोहित को लंड गांड में डालने में परेशानी होने लगी.

मैंने मज़े लेने के बोला- यार, मेरी गांड मत मार … बहुत दर्द होता है.
वो साला बोला- चुप कर साली, आज तेरे हर छेद में लंड डालूँगा.

फिर मैं चुप हो गयी तो उसने एक झटके में लंड मेरी गांड में उतार दिया.
मगर नाटक दिखाने के लिए मैं जोर से चिल्ला पड़ी- आईई ईइआ ऐईईइ मार दिया बहन के लौड़े ने … मादरचोद आराम से नहीं कर सकता था क्या?

वो बोला- साली रंडी चुप कर, आज तेरी चीख सुनने वाला कोई नहीं है. आज तो तू खुल कर चीख, तभी मुझे मज़ा आएगा.
ये कह कर मोहित जोर जोर से मेरी गांड की कुटाई करने लगा.

उधर मैंने देखा रिया और पुलकित का सेक्स ख़त्म हो चुका था तो पुलकित नंगा ही रिया के ऊपर लेटा हुआ था.

मगर रिया की चूत में अभी भी खुजली हो रही थी तो वो आयेशा के पास आ गई.
आयेशा और अमित सेक्स कर रहे थे.

रिया ने आयेशा की चूत में उंगली करनी शुरू कर दी.
अमित उस वक़्त आयेशा की गांड मार रहा था.
अब आयेशा को दोनों तरफ से मज़ा मिल रहा था.

फिर रिया ने आयेशा की चूत चाटनी शुरू कर दी.
अमित ने आयेशा को पीठ के बल लेटा दिया और रिया को उसके ऊपर लेटा दिया.

रिया और आयेशा अब एक दूसरे को किस करने लगीं तो अमित ने लंड आयेशा की चूत में डाल दिया और रिया की गांड ऊंची करके उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी.

  होली का रंग चूत चुदाई के संग-6

अमित को अब एक साथ दो लड़कियों का मज़ा मिल रहा था.
वो कभी आयेशा की चूत में लंड डाल देता तो कभी रिया की चूत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर देता.

इधर मोहित अभी भी मेरी गांड मारने में लगा हुआ था लेकिन अब अमित आयेशा और रिया को देखकर मेरा भी दो लंड से चुदने का मन करने लगा.

मैंने देखा कि पुलकित फिर से उठ गया था.
तो मैंने पुलकित को इशारे से अपने पास बुलाया.

जैसे ही पुलकित मेरे पास आया तो मैंने उसे पकड़कर किस करना शुरू कर दिया.
पुलकित भी मुझे किस किए जा रहा था.

फिर मैंने मोहित को रोका और उससे बोली- मुझे 2 लंड से एक साथ चुदना है.

यह सुनकर पुलकित नीचे लेट गया.
तो मैंने उसका लंड पकड़कर अपनी चूत में डाल लिया.

पुलकित के हाथ मेरे बूब्स पर आ गए.
वो मेरे चूचे चूसने लगा तो मोहित ने मुझे पुलकित की तरफ झुका दिया और पीछे से मेरी गांड में लंड डालकर मेरी चुदाई करने लगा.

मैंने महसूस किया कि मोहित मुझे बहुत देर से चोद रहा था और ये अभी तक झड़ा भी नहीं था और थका भी नहीं था.

मैं समझ गयी कि इसने गोली खाई हुई है.
अब मुझे दो लंड का मज़ा एक साथ मिल रहा था तो ये देखकर नेहा और अमन, जो चुदाई ख़त्म करके एक दूसरे की बांहों में लेटे हुए थे, वो भी हमारे पास आ गए.

नेहा को नंगी देखकर मोहित ने मेरी गांड से लंड निकाल लिया और नेहा को पकड़कर घोड़ी बना दिया.
वो कुछ समझ पाती, मोहित ने नेहा की चूत में लंड डाल दिया.

इधर मोहित की जगह अमन ने ले ली.
वो मेरी गांड में लंड डालकर मेरी चुदाई करने लगा.

अब स्थिति ये थी कि मैं पुलकित और अमन से चुदाई करवा रही थी.
उधर नेहा को मोहित चोद रहा था … और आयेशा और रिया दोनों अबला का तबला अमित बजा रहा था.

पूरे हाल में चुदाई का पूरा माहौल बन चुका था. अब हम सब पार्टनर बदल बदल कर चुदाई कर रहे थे.

इस बीच मैं पता नहीं कितनी बार झड़ी, अब मेरी चूत में भी दर्द होने लगा था और मेरी चूत में जलन भी हो रही थी.

अब मुझे बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था तो मैंने अमन और पुलकित को रोका और कहा- अब जाकर किसी और की चुदाई करो, मुझे अब दर्द हो रहा है.

वो दोनों शरीफ लौंडों की तरफ मुझसे हट गए.

Video: भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह का सेक्स क्लिप

अमन ने जाकर रिया की चूत से अमित का लंड निकाला और रिया को उठाकर मेरी जगह ले आया.

पुलकित ने रिया की चूत में लंड डाल दिया तो अमन ने रिया को झुका दिया और उसकी गांड में लंड डालने लगा.
इससे रिया एकदम से उछल पड़ी और बोली- मैं एक साथ चूत और गांड में लंड नहीं ले सकती.

ये सुनकर मैंने बोला- अरे इस बेचारी को छोड़ो और जाकर आयेशा की गांड मारो. वो आराम से संभाल लेगी.

ये सुनकर पुलकित ने अमन से कहा- तू रिया की चूत मार, मैं जाकर आयेशा की गांड मारता हूँ.
यह कहकर पुलकित रिया की चूत से लंड निकाल कर आयेशा के पास चला गया और उसके बूब्स दबाने शुरू कर दिए.

अमित अभी भी आयेशा की चूत मारने में लगा हुआ था और मैं सोफे पर नंगी बैठकर सबको चुदाई करते हुए देख रही थी.
फिर पुलकित ने अमित को रोककर नीचे लेटा दिया और आयेशा को उसके ऊपर लेटा दिया.

अब अमित का लंड आयेशा की चूत में था और आयेशा की गांड ऊपर उठी हुई थी.
पुलकित ने झट से अपना लंड पकड़कर एक झटके में आयेशा की गांड में उतार दिया.

अचानक हुए इस हमले के लिए आयेशा तैयार नहीं थी तो वो एकदम चीख पड़ी लेकिन पुलकित ने उस पर कोई रहम नहीं दिखाया.

उधर नेहा की बेरहम चुदाई अभी भी जारी थी.
मोहित उसकी टांगें उठा उठाकर चोद रहा था.

  हरामी मास्टरजी-1

रिया अभी भी अमन से चुद रही थी.
बस मैं ही थी जो शांति से एक तरफ बैठी हुई मैक्स सेक्स का शो देख रही थी.

मगर थोड़ी देर बाद मेरी चूत में भी खुजली होने लगी तो मैंने सबको चुदाई करने से रोका.

मोहित ने कहा- साली अब मत रोक … वर्ना यहीं पटककर तेरी चूत में चारों का लंड डलवा दूंगा.
तो मैंने उसको बोला- चल बे लवड़े तुम चार क्या, दस भी आ जाओगे तो मेरी झांट टेड़ी नहीं कर सकते.

मेरी ये बात सुनकर रिया बहुत जोर से हंसने लगी.
फिर मैंने कहा- अब कुछ नया करते हैं.

पुलकित ने कहा- अब क्या नया करना है?
मैंने कहा कि अब चारों लड़कियां तुम चारों लड़कों को चोदेंगी.

ये सुनकर पुलकित बोला- सालियों तुम हमें कैसे चोदोगी?
मैंने कहा- डिल्डो से तुम्हारी गांड मारेंगी मेरी जान.

ये सुनते ही मोहित की गांड फट गयी.
वो बोला- चल बहन की लौड़ी … मुझे अपनी गांड नहीं मरवानी.
बाकी के लड़के भी पीछे हट गए.

तो मैंने कहा- ठीक है, अब अगर तुम्हें गांड नहीं मरवाई तो हम भी तुम्हें चुदाई नहीं करने देंगी.
सबको लग रहा था मैं सीरियस होकर ये सब बोल रही हूँ लेकिन मैं मजाक कर रही थी.

मैं देखना चाहती थी कि ये बात सुनकर लड़कों की कैसे गांड फटती है.
मेरी बात सुनकर सुनकर सब लड़के कहने लगे- यार तुझे हमारी गांड मारनी क्यों है?

मैंने कहा- हम भी तो देखें कि तुम लड़कों को हम लड़कियों की गांड मारने में ऐसा क्या मज़ा आता है.

मेरी बात सुनकर नेहा ने कहा- हां यार, ये लोग तो मेरी गांड ऐसे मारते हैं जैसे मादरचोदों को कोई रंडी की गांड मिल गयी हो. साले दर्द भी नहीं देखते हमारा. आज तो इन भोसड़ी वालों की गांड मारनी ही है.

पुलकित ने कहा- चुप हो जाओ साली रंडी … क्यों हमारी माँ चोद रही है. तुम लड़कियां तो हो ही गांड में लंड लेने के लिए, मगर हम लड़के कभी गांड नहीं मरवाते.

जब पुलकित ने ये कहा कि तुम लड़कियां तो हो ही गांड में लंड लेने के लिए, तो ये बात मेरी झांट में आग लगा गयी.
मैंने भी सोच लिया अब इन मादरचोदों की गांड मारनी ही है.

आयेशा ने कहा- बहन के लौड़ो, क्यूं इतने नखरे कर रहे हो. हम लड़कियों की गांड मारने में तो ये बोलते हैं बेबी ज्यादा दर्द नहीं होगा, आराम से करूंगा. अब खुद की बारी आई, तो गांड मरवाने में माँ चुद रही है. फेहमिना ने सही कहा कि अगर तुमने गांड नहीं मरवाई तो आज के बाद तुम्हें कभी सेक्स करने को नहीं मिलेगा और अगर आज मरवा ली तो हो सकता है, हम चारों की चूत और गांड मारने का मौका रोज मिलता रहे.

आयेशा की बात सुनकर रिया, नेहा और मैंने कहा- हां ये ठीक कह रही हैं. अब तो गांड मरवानी पड़ेगी.
अमन ने कहा- ठीक है, हम सोचकर बताते हैं.

फिर वो चारों सोचने लगे और हम चारों लड़कियां आपस में ये बात करने लगीं कि कौन किसकी गांड मारेगी.

मैंने कहा- ये साला मोहित बहुत बोल रहा है, आज इसकी गांड मारकर मैं इसकी माँ चोद दूंगी.
फिर रिया ने कहा- मैं पुलकित की गांड मारूंगी.

नेहा ने कहा- यार रिया, तू किसी और को पकड़ ले. इस पुलकित के बच्चे की माँ तो मुझे चोदनी है.
रिया ने कहा- चल ठीक है, मैं अमित की गांड फाड़ती हूँ.

फिर अंत में आयेशा के हिस्से आया अमन.
मगर हम सबसे जरूरी बात तो करना भूल ही गए थे कि इन चूतियों की गांड मारेंगे कैसे?

अब इस बात पर चर्चा होने लगी तो आयेशा ने कहा- यार हमारे पास डिल्डो है तो सही, मगर वो घर पर रखा है. इस टाइम उसे कैसे लाया जाए.

बहुत सोचने के बाद हमने ये फैसला किया कि आज तो इन्हें छोड़ देते हैं मगर कल सब मेरे घर पर चुदाई का प्रोग्राम रखेंगे … और वहां इनके गांड की माँ चोदेंगे.

  प्रेमिका की चूत की प्रथम चुदाई

तभी अमन ने आवाज लगाकर हम सभी को बुलाया तो हम सब लड़कों के पास आ गए.

अमन ने कहा- ठीक है, हम सब गांड मरवाने के लिए रेडी हैं मगर हमारी एक शर्त है कि तुम ये बात किसी से नहीं कहोगी कि तुम लोगों ने हमारी गांड मारी है.
इस पर आयेशा ने कहा- अले अले अले … मेले छोना बाबू को डल लग लहा है.

आयेशा के मुँह से ये सुनकर हम चारों लड़कियां जोर जोर से हंसने लगीं.

तो अमन ने कहा- बहनचोद अगर ये शर्त मंजूर हैं तो बोल, वर्ना माँ चुदा.
आयेशा ने कहा- अबे साले चूतिये, ये भी कोई कहने की बात है. हम किसी से नहीं कहेंगे.

ये सुनकर मोहित ने कहा- देखो जो भी लड़की, जिस भी लड़के की गांड मारेगी, वो आराम से करेगी और ये बताओ तुम हमारी गांड मारोगी कैसे?
तो मैंने कहा- वो सब हम पर छोड़ दो और बात रही आराम से करने की, तो जैसे तुम लोग हमारी गांड मारते हो, उसी तरह से हम तुम्हारी गांड मारेंगी.

सबकी गांड फटने लगी तो अमित ने कहा- ठीक है, चलो शुरू करते हैं.
सब लड़के घोड़ी बन गए तो हम सबकी हंसी छूट गयी.

मैंने कहा- ये देखो इन भोसड़ी वालों को … कैसे गांड मरवाने के लिए उतावले हुए जा रहे हैं. अबे चूतियो, तुम्हारी गांड हम आज नहीं कल मारेंगे.
ये सुनकर सब लड़के खड़े हो गए.

मैंने कहा- इतनी भी क्या जल्दी है गांड मरवाने की? क्या हुआ गांड में किसी का लंड लेने की खुजली हो रही है क्या?

ये सुनकर सब लड़कियां हंसने लगीं तो लड़के बुरी तरह झेम्प गए.

फिर मैंने कहा- आज का दिन तुम्हारा है लेकिन कल का दिन हमारा होगा.

ये सुनते ही पुलकित मेरे पास आने लगा तो मैंने कहा- रुक जा चूतिये तुझे और ज्यादा मज़ा देती हूँ.
ये कहकर मैंने सबसे कहा- हम चारों लड़कियां यहीं घोड़ी बनेंगी, जिसका जिसको चोदने का मन हो, वो उस लड़की की चूत या गांड मार सकता है.

ये सुनकर लड़कों की आंखों में चमक आ गयी.

रिया ने कहा कि सालो ये बात याद रखना आज जितनी प्यार से सेक्स करोगे … कल तुम्हारी गांड उतना कम दर्द करेगी.
ये कहकर वो हंसने लगी.

फिर हम चारों वहीं सोफे पर घोड़ी बन गईं.
सबसे पहले रिया थी.
उसके बगल में मैं थी, फिर नेहा थी और फिर आयेशा थी.

मैंने पलटकर देखा कि सारे लड़के आपस में कुछ बात कर रहे थे.

फिर अमन अन्दर चला गया तो मैंने पूछा कि ये क्या हो रहा है?
मोहित ने कहा- मेरी जान बस 2 मिनट रुक जा, सब पता चला जाएगा.

इतने में अमन अन्दर से आया तो उसके हाथ में काली पट्टियां थीं.
मोहित ने उससे वो पट्टियां लेकर सबको एक एक दे दी और उसने कहा- अब हम ये पट्टी तुम सबकी आंखों में पहना देंगे. फिर तुम्हारी चुदाई शुरू करेंगे. तुमसे एक सवाल भी पूछा जाएगा अगर उसका जवाब तुमने सच दिया तो उसकी चुदाई प्यार से की जाएगी. और अगर जवाब गलत हुआ तो उस लड़की के साथ हार्डकोर चुदाई की जाएगी.

हम लड़कियों को ये गेम रोमांचक लगा, तो सबने हां कह दिया.

फिर सबने एक एक लड़की के पट्टी बांध दी. मुझे मोहित ने पट्टी बांधी.
दोस्तो, अब आँख पर पट्टी बाँधने के बाद हम लड़कियों के साथ क्या होने वाला था, वो मैं आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूँगी.

मेरी इस सेक्स मैक्स चुदाई स्टोरी पर अपने विचार अवश्य बताएं.

[email protected]
facebook: fehmina.iqbal.143

सेक्स मैक्स चुदाई स्टोरी का अगला भाग: बाँडेज सेक्स कहानी

Video: ससुर का बड़ा लंड हिला के चूसती छिनाल बहु